पंचायत 2020-2021, ऑनलाइन मतदाता आवेदन फॉर्म
पंचायत निर्वाचक नामावली 2021 में नाम सम्मिलित करने हेतु ऑनलाइन आवेदन की सुविधा दिनांक 01-10-2020 00:00:00 से 05-11-2020 00:00:00 तक उपलब्ध रहेगी|
महत्वपूर्ण निर्देश:
  1. कृपया आवेदन से पूर्व यह पुष्टि कर लें कि पंचायत के निर्वाचक नामावली में नाम है या नहीं । मतदाता सूची में नाम खोजने हेतु दिए गए लिंक पर क्लिक करें । पंचायत मतदाता खोजें
  2. एक से अधिक बार पाया गया पंजीकरण अमान्य हो जायेगा ।
  3. केवल मकान संख्या, मतदाता सूची अनुसार ही भरें। किसी भी दशा में मकान संख्या में पता न भरें।
  4. किसी नाम को दर्ज करने से पूर्व श्री/श्रीमती/कुमार/बेगम/पंडित आदि न भरें।
  5. हिंदी में भरने के लिए इंग्लिश में लिखकर स्पेस बटन प्रेस करें अथवा गूगल इनपुट टूल का प्रयोग किया जा सकता है।
प्रपत्र-2
(नियम-9 और 12 देखिए)
नाम सम्मिलित किये जाने के लिये दावा/आवदेन पत्र
सेवा में,
सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी,

निवास स्थान का विवरण:

महोदय,

मैं प्रार्थना करता हूँ कि मेरा नाम निम्नलिखित विवरण के अनुसार सम्बन्धित निर्वाचक नामावली में सम्मिलित किया जाए।

व्यक्तिगत विवरण:

 केवल संख्या भरें। eg. 10
केवल अक्षर भरें। eg. /aa=/अ या aa=अ
* हिंदी में परिवर्तन हेतु लिखकर स्पेस को दबाएँ।
* हिंदी में परिवर्तन हेतु लिखकर स्पेस को दबाएँ।
श्री/श्रीमती/कुमार/बेगम/पंडित आदि न भरें।
* हिंदी में परिवर्तन हेतु लिखकर स्पेस को दबाएँ।
श्री/श्रीमती/कुमार/बेगम/पंडित आदि न भरें।
 01, जनवरी 2020 को आवेदनकर्ता की आयु भरें।

सत्यापनकर्ता (निर्वाचक) का विवरण:

* हिंदी में परिवर्तन हेतु लिखकर स्पेस को दबाएँ|

सम्बंधित विधानसभा क्षेत्र की निर्वाचक नामावली में अंकित नाम का विवरण :

किसी अन्य ग्राम पंचायत में त्रुटिवश अंकित नाम का विवरण :

अनर्हता के कारण पूर्व निर्वाचक नामावली से नाम विलोपन का विवरण :

* हिंदी में परिवर्तन हेतु लिखकर स्पेस को दबाएँ।

प्रमाण सम्बन्धी दस्तावेजों का विवरण :

अधिकतम फाइल साइज़ 100 KB मान्य। केवल jpg या pdf फाइल ही मान्य ।
अधिकतम फाइल साइज़ 100 KB मान्य। केवल jpg या pdf फाइल ही मान्य ।
अधिकतम फाइल साइज़ 100 KB मान्य। केवल jpg या pdf फाइल ही मान्य ।
मैं सत्यापित करता हूँ कि इस आवेदन पत्र में लिखित बात मेरे सर्वोत्तम ज्ञान और विश्वास के साथ सही है।


टिप्पणीः- जो कोई व्यक्ति ऐसा कथन या घोषणा करता हैं जो कि मिथ्या है और जिसके मिथ्या होने का या तो उसे ज्ञान या विश्वास है या जिसके सत्य होने का उसे विश्वास नहीं है, वह एक दण्डनीय अपराध है।